Press "Enter" to skip to content

Pakistan पर भारत का आर्थिक हमला, अपनी ही सरकार के खिलाफ पाकिस्तानी बैंकर्स 

फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स की नई चेतावनी से पाकिस्तानी बैंकर्स में मची खलबली

फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) Financial Action Task Force की नई चेतावनी से पाकिस्तानी बैंकर्स में खलबली मची हुई हैं। FATF की नई चेतावनी से पाकिस्तान के बैंकर्स इतना घबरा गए हैं कि उन्होंने पाकिस्तान सरकार को सुधर जाने के लिए कहा है। बैंकर्स ने Pakistan सरकार से आतंक को किसी भी तरह की फंडिंग करना बंद करने और हवाला जैसे कारोबार से बाज आने के लिए कहा है। पाकिस्तान के बैंकर्स को डर है कि पाकिस्तान सरकार अगर आतंकवाद को आर्थिक मदद करना बंद नही करेगी तो वे डूब जाएंगे।

पाकिस्तानी बैंकर्स इस बात इस बात से भी डरे हुए है कि पाकिस्तान अगर अपनी हरकतों से बाज नहीं आया तो FATF पाकिस्तान को वर्तमान ग्रे सूची से और डाउनग्रेड कर देगा। अगर ऐसा होता है तो Pakistan कहीं का नहीं रह जाएगा क्योंकि तब पाकिस्तान को विश्व से फूटी कौड़ी तक मदद के रूप में नहीं मिलेगी। फिलहाल पाकिस्तान की हरकतों की वजह से ही FATF ने उसे ग्रे सूची में डाल रखा है। 17-22 फरवरी तक फ्रांस की राजधानी पेरिस में FATF की बैठक हुई। इस बैठक में भारत ने यहां पाकिस्तान को पूरी तरह से घेरने की कोशिश की। इसका परिणाम यह हुआ कि FATF की तरफ से पाकिस्तान को ताजा चेतावनी दी गई।

पाकिस्तान में विदेशी निवेश हो सकता है जीरो

पाकिस्तान के मशहूर अखबार डॉन में छपी खबर के मुताबिक पाकिस्तान के बैंकर्स चाहते हैं कि पाकिस्तान सरकार FATF के बताए रास्ते पर चले ताकि आने वाले समय में पाकिस्तान को आर्थिक परेशानियो का सामना न करना पड़े। डॉन में छपी खबर में कहा गया है कि पाकिस्तान के बैंकर्स समुदाय ने कहा है कि अगर अब FATF की तरफ से पाकिस्तान के खिलाफ कोई भी कार्रवाई की जाती है तो यह पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था के लिए गंभीर खतरा साबित होगी। अगर पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट से निकालकर ब्लैक लिस्ट में डाल दिया जाता है तो पाकिस्तान में सारा विदेशी निवेश जीरो हो जाएगा। बैंकर्स ने साफ कहा है कि पाकिस्तान को FATF के निर्देशों को ध्यान में रखते हुए काम करना चाहिए। इधर फ्रांस पहले ही कह चुका है कि वह पाकिस्तान सरकार पर आतंकवाद को फंडिंग नहीं करने के लिए दबाव डालेगा।

Pulwama-attackपुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान को चौतरफा घेरने की कोशिश में भारत

कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के मारे जाने के बाद भारत ने पाकिस्तान को चौतरफा घेरने की कार्रवाई शुरू कर दी है। भारत पाकिस्तान को हर मोर्चे पर विफल कर देना चाहता है ताकि पाकिस्तान अगली बार से भारत में आतंकी हमला करने की हिमाकत नहीं कर सके। इस क्रम में भारत ने पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीन लिया है और पाकिस्तान से आने वाले सामान पर 200 फीसदी शुल्क लगा दिया है। इस कारण पाकिस्तान के कारोबारी अपना कोई भी सामान भारत नहीं भेज पा रहे हैं। भारत ने पाकिस्तान को निर्यात करना भी बंद कर दिया है। इस कारण पाकिस्तान में टमाटर जैसी जरूरी चीज की कीमत 200 रुपए किलो तक पहुंच गई है। पाकिस्तान कि जनता भी परेशान हो गी है और अपनी सरकार पर भरोसा नही कर प् रही है।

 


यदि आपके मन में इस Blog Post के संबंधित कोई भी प्रश्न है तो कृपया नीचे Comment ज़रुर करें।

कृपया हमारे Blog Post के प्रति अपनी ख़ुशी दर्शाने के लिए इसे Facebook, Twitter, Google+ और Linkedin इत्यादि Social Network पर शेयर कीजिए।

ऐसे ही और Informational Posts पढ़ते रहने के लिए और नए Blog Posts के बारे में Notifications प्राप्त करने के लिए आज ही हमें Subscribe कीजिए।

शेयर बाज़ार में बिना जानकारी के निवेश जोखिम से भरा हो सकता है। इस ब्लॉग के माध्यम से दी गई सभी जानकारी Education Purpose के लिए है, किसी भी तरह का निवेश करने पहले अपने फाइनेंसियल सलाहकार से जरुर सलाह करें।

More from NewsMore posts in News »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.