Press "Enter" to skip to content

भारत की सबसे बड़ी कंपनी बनी RIL, इंडियन ऑयल को छोड़ा पीछे, 1553 करोड़ रुपए रोज कमाकर बनाया रिकॉर्ड

Reliance Industries ने 1553 करोड़ रुपए रोज़ कमाकर बनाया रिकॉर्ड

Reliance Industries (रिलायंस इंडस्ट्रीज) ने एक और बड़ी उपलब्धि हासिल की है। वित्त वर्ष 2018-19 में आरआईएल ने 5.67 लाख करोड़ रुपए के रेवेन्यू अर्जित करके इंडियन ऑयल (Indian Oil) यानी आईओसी (IOC) की 11 साल की बादशाहत खत्म की। इस तरह इंडियन ऑयल को पीछे छोड़कर आरआईएल (RIL) रेवेन्यू के मामले में भारत की सबसे बड़ी कंपनी बन गई।

Reliance Industries का रेवेन्यू 44.8 फीसदी बढ़ा

ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक, वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान Reliance Industries का रेवेन्यू 44.8 फीसदी की बढ़त के साथ 5.67 लाख करोड़ रुपए के स्तर पर पहुंच गया, वहीं आईओसी (IOC) का रेवेन्यू 28.03 फीसदी बढ़कर 5.28 लाख करोड़ रुपए के स्तर पर पहुंच गया। अगर रोजाना का औसत निकालें तो वित्त वर्ष के दौरान Reliance Industries ने रोज 1553 करोड़ रुपए और IOC ने लगभग 1446 करोड़ रुपए का रेवेन्यू हासिल किया। इस प्रकार आरआईएल की तुलना में आईओसी का रेवेन्यू पूरे साल में लगभग 38,986 करोड़ रुपए कम रहा।

Reliance Industries रेवेन्यू, मुनाफे और मार्केट कैप तीनों स्तर पर सबसे बड़ी कंपनी बनी





इस उपलब्धि के साथ आरआईएल रेवेन्यू, मुनाफे और मार्केट कैप सभी तीनों मानकों पर देश की सबसे बड़ी कंपनी बन गई है। मजबूत रिफाइनिंग मार्जिन और रिटेल बिजनेस पर जोर दिए जाने से आरआईएल ने वित्त वर्ष 2010 और वित्त वर्ष 2019 के बीच 14.1 फीसदी सीएजीआर ग्रोथ दर्ज की थी। इसके विपरीत आईओसी का रेवेन्यू इस अवधि के दौरान सिर्फ 6.3 फीसदी की दर से बढ़ा।

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.